प्रेस विज्ञप्ति

तेल विपणन कंपनियों (ओएमसी) द्वारा उज्ज्वला लाभार्थियों से अगले 6 रिफिल तक ऋण राशि की वसूली का स्थगन
नई दिल्ली, March 23, 2018

तेल विपणन कंपनियों (ओएमसी) ने आज घोषणा की है कि दिनांक 01 अप्रैल, 2018 से अगले 6 रिफिल के लिए उज्ज्वला लाभार्थियों से ऋण राशि की वसूली स्थगित रखी जाएगी ।

उपलब्ध आंकड़ों के अनुसार, लगभग 70% पीएमयूआई लाभार्थियों ने एलपीजी स्टोव और / या पहली एलपीजी लागत के लिए ओएमसी द्वारा उपलब्ध कराई गई ब्याज मुक्त ऋण सुविधा का लाभ उठाया है । इस योजना के तहत, ओएमसी ऋण लेने वाले उन सभी लाभार्थियों द्वारा बाद में ली जाने वाली रिफिलों पर उपलब्ध सब्सिडी वसूल कर रहे हैं, जिसका समायोजन ऋण चुकाने के लिए किया जा रहा है । इस प्रकार, ऐसे लाभार्थियों का विशुद्ध व्यय अधिक है, जो उनके सामर्थ्य पर प्रभाव डाल रहा है और इस वजह से कुछ उपभोक्ता वैकल्पिक ईंधन की तरफ शिफ्ट हो रहे हैं ।

पीएमयूआई लाभार्थियों द्वारा एलपीजी के सतत उपयोग को सुनिश्चित करने के लिए ओएमसी प्रतिबद्ध है क्योंकि पीएमयूवाई मूल उद्देश्य ही बीपीएल परिवारों की सभी महिलाओं को खाना बनाने का स्वच्छ ईंधन उपलब्ध कराकर उनके रसोईघरों को धुआंरहित बनाना है । पीएमयूवाई योजना की भावना और वर्ष 2022 तक 90% से अधिक लोगों तक एलपीजी की पहुंच बढ़ाने के देश के लक्ष्य को ध्यान में रखते हुए, ओएमसी निर्धारित दिशानिर्देशों के मुताबिक 06 रिफिलों तक ऋण वसूली को स्थगित कर रही है :

क. यह योजना उन सभी मौजूदा पीएमयूवाई एलपीजी कनेक्शनों पर लागू होगी, जिन्होंने ओएमसी से स्टोव और / या पहले एलपीजी की लागत हेतु ऋण लिया है ।
ख. सभी पीएमयूवाई ग्राहक जिनका ऋण दिनांक 31 मार्च, 2018 तक बकाया है, उनसे 6 एलपीजी रिफिल तक बकाया ऋण राशि की वसूली नहीं की जाएगी ।
ग़. दिनांक 01, 2018 के बाद नामांकित होने वाले सभी नए उपभोक्ताओं से भी 6 एलपीजी रिफिल तक बकाया ऋण राशि की वसूली नहीं की जाएगी ।

इस पहल से पीएमयूवाई ग्राहकों की एलपीजी खपत निश्चित रूप से बढ़ेगी और और देश के सतत विकास संबंधी लक्ष्यों को काफी बढ़ावा मिलेगा ।